Sunday 6th of December 2020 6:35 AM
बिहार में कहीं भी पलट सकते हैं नतीजे, 99 सीटों पर अंतर 2000 से कम बिहार चुनावः पूर्व सीएम राबड़ी देवी बोलीं- हर जगह महागठबंधन को मिल रही जीत, लोग दे रहे रिपोर्ट NEET Result 2020: नीट परीक्षा का र‍िजल्ट जारी NEET Result: रिजल्ट थोड़ी देर में EC ने UP और उत्तराखंड की 11 राज्यसभा सीटों पर चुनाव का किया ऐलान महाराष्ट्र: राज्यपाल के सवाल पर CM उद्धव बोले- मुझे आपसे हिंदुत्व पर सर्टिफिकेट लेने की जरूरत नहीं यूपीः पूर्व मंत्री आजम खान को राहत, इलाहाबाद हाईकोर्ट से 2 मामलों में मिली जमानत भीम आर्मी प्रमुख चंद्रशेखर आजादः पीड़ित परिवार को Y श्रेणी की सुरक्षा दी जाए भाजपा सरकार की जनविरोधी नीतियों के खिलाफ सपा का सत्याग्रह

5 साल में देश के 7 प्रमुख क्षेत्रों में 3.64 करोड़ लोग बेरोजगार, 7.1% बेरोजगारी दर

बजट में अर्थव्यवस्था की सुस्ती दूर करने और नौकरियां बढ़ाने के लिए सरकार क्या प्रयास करती है, इसपर सबकी निगाहें हैं। इस बीच हाल ही में आई रिपोर्ट के मुताबिक देश में बेरोजगारी दर 7.1 फीसदी के ऊंचे स्तर पर पहुंच गई है। ऐसे में भास्कर ने अलग-अलग सेक्टर के विशेषज्ञों, इंडस्ट्री बॉडी और सरकारी रिपोर्ट्स के माध्यम से जाना कि देश में नौकरियों की क्या स्थिति है।

रिसर्च में सामने आया कि देश में बीते पांच सालों में 3.64 करोड़ नौकरियां सिर्फ 7 प्रमुख सेक्टर्स में ही जा चुकी हैं। इनमें प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष रोजगार शामिल हैं। सर्वाधिक 3.5 करोड़ नौकरियां टेक्सटाइल सेक्टर की हैं। हालांकि अच्छी बात यह है कि सरकारी प्रयास और जीडीपी ग्रोथ की उम्मीद के बीच करीब 5.3 करोड़ से अधिक नई नौकरियां अगले पांच साल में आएंगी।

क्लोदिंग मैन्यूफैक्चरर्स एसोसिएशन ऑफ इंडिया के मुख्य संरक्षक राहुल मेहता बताते हैं कि टेक्सटाइल सेक्टर में अलग-अलग कारणों से पिछले पांच सालों में करीब 3.5 करोड़ लोग बेरोजगार हुए हैं। हालांकि अब स्थितियां सुधर रही हैं और अगले 5 सालों में इतने ही नए रोजगार आ जाएंगे। वहीं नीति आयोग के उपाध्यक्ष राजीव कुमार कहते हैं कि देश में जॉब लॉस जैसी बात नहीं है। नए जॉब ग्रोथ की रफ्तार थोड़ी धीमी अवश्य हुई है। केंद्र सरकार ने इंफ्रास्ट्रक्चर पर खर्च बढ़ाया है।  निवेश भी बढ़ेगा। इससे जॉब आएंगे।
देश की प्रमुख जॉब मुहैया करवाने वाली कंपनी टीमलीज की को-फाउंडर ऋतुपर्णा चक्रवर्ती ने कहा कि देश में टेलीकॉम, ऑटो, मोबाइल, इंफ्रा, जेम्स एंड ज्वैलरी और कंस्ट्रक्शन क्षेत्र में अवश्य नौकरियां घटी हैं लेकिन यह कितनी घटी हैं कह पाना मुश्किल है। मारुति सुजुकी इंडिया के चेयरमैन आरसी भार्गव कहते हैं कि नौकरी चक्रीय होती है। जैसे- एक कार बिकती है तो कार ड्राइवर, पेट्रोल वाले, स्पेयर पार्ट्स, इश्योरेंस आदि से करीब 5 लोगों को रोजगार मिलता है। हम प्रतिवर्ष 15-16 लाख कार बनाते हैं। उम्मीद है रोजगार बढ़ेगा।

SOURCE LINK
भारतीय किसान यूनियन ने की घोषणा - कल प्रधानमंत्री का पुतला फूंका जाएगा, 8 दिसंबर को भारत बंद
January 26, 2020
CBSE ने एग्जाम को लेकर सारी अटकलें खारिज कीं, लिखित ही आयोजित होंगी 10वीं 12वीं की बोर्ड परीक्षाएं
January 26, 2020
नोएडा में प्रभु की रसोई का मदद मॉडल
January 26, 2020
डेल्टा-टी क्लासेस की छात्रा ने नीट 2020 परीक्षा में लहराया परचम
January 26, 2020
शायर मुनव्वर राणा ने भाजपा को घेरा, कहा - सबसे पहले, भाजपा नेताओं को एंटी लव जिहाद अधिनियम के तहत कार्रवाई करनी चाहिए
January 26, 2020
ब्लॉक मुस्करा में समाजवादियों ने नेता जी का केक काटकर मनाया जन्मदिन
January 26, 2020
महबूबा-उमर का शाह को जवाब, पूछा- चुनाव लड़ना एंटी नेशनल कैसे?
January 26, 2020
केजरीवाल ने कहा, मार्केट एरिया में लॉकडाउन लगाने का हक मिले, दिल्ली की शादियों में होगी भीड़ कम
January 26, 2020
नॉएडा : समाजवादी पार्टी नेता गौरव चौधरी का स्वागत किया गया
January 26, 2020
अर्नब गोस्वामी गिरफ्तार : इंटीरियर डिजाइनर को कथित रूप से आत्महत्या के लिए उकसाने के मामले में गिरफ्तार
January 26, 2020
नोएडा में कमल शर्मा हत्याकांड का सनसनीखेज खुलासा, प्यार का विरोध बना मौत की वजह
January 26, 2020
आज से अडानी ग्रुप को 50 साल के लखनऊ एयरपोर्ट, निजी हाथों में होगा लखनऊ एयरपोर्ट
January 26, 2020