Saturday 16th of October 2021 8:36 PM
दिल्ली: कांग्रेस के वरिष्ठ नेता मोतीलाल वोरा का निधन, कल मनाया था जन्मदिन बिहार में कहीं भी पलट सकते हैं नतीजे, 99 सीटों पर अंतर 2000 से कम बिहार चुनावः पूर्व सीएम राबड़ी देवी बोलीं- हर जगह महागठबंधन को मिल रही जीत, लोग दे रहे रिपोर्ट NEET Result 2020: नीट परीक्षा का र‍िजल्ट जारी NEET Result: रिजल्ट थोड़ी देर में EC ने UP और उत्तराखंड की 11 राज्यसभा सीटों पर चुनाव का किया ऐलान महाराष्ट्र: राज्यपाल के सवाल पर CM उद्धव बोले- मुझे आपसे हिंदुत्व पर सर्टिफिकेट लेने की जरूरत नहीं यूपीः पूर्व मंत्री आजम खान को राहत, इलाहाबाद हाईकोर्ट से 2 मामलों में मिली जमानत भीम आर्मी प्रमुख चंद्रशेखर आजादः पीड़ित परिवार को Y श्रेणी की सुरक्षा दी जाए भाजपा सरकार की जनविरोधी नीतियों के खिलाफ सपा का सत्याग्रह

5 साल में देश के 7 प्रमुख क्षेत्रों में 3.64 करोड़ लोग बेरोजगार, 7.1% बेरोजगारी दर

बजट में अर्थव्यवस्था की सुस्ती दूर करने और नौकरियां बढ़ाने के लिए सरकार क्या प्रयास करती है, इसपर सबकी निगाहें हैं। इस बीच हाल ही में आई रिपोर्ट के मुताबिक देश में बेरोजगारी दर 7.1 फीसदी के ऊंचे स्तर पर पहुंच गई है। ऐसे में भास्कर ने अलग-अलग सेक्टर के विशेषज्ञों, इंडस्ट्री बॉडी और सरकारी रिपोर्ट्स के माध्यम से जाना कि देश में नौकरियों की क्या स्थिति है।

रिसर्च में सामने आया कि देश में बीते पांच सालों में 3.64 करोड़ नौकरियां सिर्फ 7 प्रमुख सेक्टर्स में ही जा चुकी हैं। इनमें प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष रोजगार शामिल हैं। सर्वाधिक 3.5 करोड़ नौकरियां टेक्सटाइल सेक्टर की हैं। हालांकि अच्छी बात यह है कि सरकारी प्रयास और जीडीपी ग्रोथ की उम्मीद के बीच करीब 5.3 करोड़ से अधिक नई नौकरियां अगले पांच साल में आएंगी।

क्लोदिंग मैन्यूफैक्चरर्स एसोसिएशन ऑफ इंडिया के मुख्य संरक्षक राहुल मेहता बताते हैं कि टेक्सटाइल सेक्टर में अलग-अलग कारणों से पिछले पांच सालों में करीब 3.5 करोड़ लोग बेरोजगार हुए हैं। हालांकि अब स्थितियां सुधर रही हैं और अगले 5 सालों में इतने ही नए रोजगार आ जाएंगे। वहीं नीति आयोग के उपाध्यक्ष राजीव कुमार कहते हैं कि देश में जॉब लॉस जैसी बात नहीं है। नए जॉब ग्रोथ की रफ्तार थोड़ी धीमी अवश्य हुई है। केंद्र सरकार ने इंफ्रास्ट्रक्चर पर खर्च बढ़ाया है।  निवेश भी बढ़ेगा। इससे जॉब आएंगे।
देश की प्रमुख जॉब मुहैया करवाने वाली कंपनी टीमलीज की को-फाउंडर ऋतुपर्णा चक्रवर्ती ने कहा कि देश में टेलीकॉम, ऑटो, मोबाइल, इंफ्रा, जेम्स एंड ज्वैलरी और कंस्ट्रक्शन क्षेत्र में अवश्य नौकरियां घटी हैं लेकिन यह कितनी घटी हैं कह पाना मुश्किल है। मारुति सुजुकी इंडिया के चेयरमैन आरसी भार्गव कहते हैं कि नौकरी चक्रीय होती है। जैसे- एक कार बिकती है तो कार ड्राइवर, पेट्रोल वाले, स्पेयर पार्ट्स, इश्योरेंस आदि से करीब 5 लोगों को रोजगार मिलता है। हम प्रतिवर्ष 15-16 लाख कार बनाते हैं। उम्मीद है रोजगार बढ़ेगा।

SOURCE LINK
3 बच्चों की मां ने शरीर पर बनवाए 17 लाख रुपये के टैटू!
January 26, 2020
यूपी में स्कूल खोलने के बदले नियम, समय बदलने के आदेश भी जारी
January 26, 2020
पुराने पैटर्न पर होगी नीट सुपर स्पेशियलिटी डीएम परीक्षा, अगले साल होगा बदलाव: सुप्रीम कोर्ट
January 26, 2020
'मार डालो गाड़ दो... हम डरते नहीं' - प्रियंका के साथ पुलिस फोर्स पर बोले राहुल
January 26, 2020
चंद घंटों की बारिश में सड़कों पर जलजमाव, विकास प्राधिकरण का विकास पानी में डूबा
January 26, 2020
गौतमबुद्धनगर के डीएम सुहास एलवाई ने जीता सेमीफाइनल, कल होगा फाइनल मैच
January 26, 2020
किसानों पर लाठीचार्ज सरकार की नाकामी: गौरव यादव
January 26, 2020
आम आदमी पार्टी 1 सितंबर को नोएडा में 'तिरंगा यात्रा' निकालेगी
January 26, 2020
बारिश ने खोले नोएडा व ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण के पोल, शहर की सड़कें, गांव व सेक्टर तालाब में तब्दील
January 26, 2020
नॉएडा सैक्टर 55 RWA का चुनाव शांतिपूर्ण संपन्न हुआ
January 26, 2020
फोनेर्वा के लगातार दूसरी बार अध्यक्ष बने योगेंद्र शर्मा, एनपी सिंह हुए रिटायर
January 26, 2020
यूपी में बैठे हैं, भेज दो जेल, लखनऊ आए तो जाएंगे जेल, बयान पर बीकेयू नेता राकेश टिकैत का पलटवार
January 26, 2020